Apna Ghar आश्रम में हर्षोल्लास से मना रक्षाबंधन पर्व

Apna-Ghar-Aashram-Raksha-Bandhan-festival

Apna Ghar आश्रम में आवासरत महिला पुरूष प्रभुजियों के साथ ही बाल सदन में रह रहे बाल गोपालों द्वारा रक्षाबंधन पर्व बड़े ही हर्षोल्लास से मनाया गया। पुरूष प्रभुजियों को महिला प्रभुजियों द्वारा राखी बांधी गई व टीका लगाकर मिठाई खिलाई गई। इस अवसर पर प्रभुजियों के चेहरों पर एक अलग ही खुशी छलक रही थी। राखी बंधवाते समय प्रत्येक प्रभुजी के चेहरे की रौनक देखने लायक थी। read it also  यह समारोह Apna Ghar बंशी प्रकल्प आश्रम के मातृ सदन द्वितीय पुष्पाजंलि रामसदन पुरूष सदन द्वितीय पुरूष सदन तृतीय एवं बालसदन में सभी पुरूष महिला प्रभुजियों एवं बाल गोपालों द्वारा मनाया गया। इस मौके पर बालसदन में संस्थापक डा बी एम भारद्वाज संस्थापिका डा माधुरी भारद्वाज बालगोपाल सदन सुपरवाइजर श्रीमती राजकुमारी चीफ सुपरवाइजर ऐदलसिंह श्रीमती शीलादेवी सुपरवाईजर कुंवरसेन श्रीमती नीलम व अन्य सेवा साथी मौजूद थे।

वर्तमान में अपनाघर आश्रम Apna Ghar Aashram Bharatpur को असहाय लोगों की सेवा करने वाला अपने श्रेणी का देश का सबसे बड़ा आश्रम माना जाता है। देश भर में अपनाघर आश्रम के करीब 60 आश्रम हैं। नेपाल में भी आश्रम का विस्तार हो चुका है। भरतपुर में अपनाघर आश्रम करीब 100 बीघा जमीन पर विस्तारित है और इसके प्रतिदिन का खर्च करीब 10.50 लाख रूपये का आता है।