Chandra Grahan 2023 : जानिये चंद्रग्रहण का राज

Chandra Grahan 2023

Chandra Grahan का जितना धार्मिक महत्व होता है उतना ही वैज्ञानिक महत्व होता है। इस वर्ष 2023 में विगत मई माह की 5 तारीख को चंद्र ग्रहण लग चुका है और ज्योतिष व खगोल शास्त्र के अनुसार वर्ष 2023 का आखिरी चंद्र ग्रहण अक्टूबर 2023 में लगने वाला है। यह दूसरा चंद्र ग्रहण 29 अक्टूबर रविवार को लगेगा जो कि रात एक बजकर छह मिनट से शुरू होगा और दो बजकर बाइस मिनट पर समाप्त होगा। माना जा रहा है कि यह पूर्ण चंद्र ग्रहण होगा जिसे स्पष्ट स्वरूप में भारतवासी देख पायेंगे। इस दौरान सूतक काल रहेगा।

कब लगता है चंद्र ग्रहण

जैसा कि विदित है कि पृथ्वी सूर्य का चक्कर लगाती है और चंद्रमा पृथ्वी का चक्कर लगाता है। जब पृथ्वी, सूर्य और चंद्रमा एक सीध में आ जाते हैं तो पृथ्वी चंद्रमा को पूरी तरह से ढक लेती है जिसके कारण सूर्य की रोशनी चंद्रमा पर नहीं पहुंच पाती जिससे हमें चंद्रमा नजर नहीं आता है। भारतवर्ष में इस खगौलिय घटना का बड़ा ज्योतिषिय महत्व माना जाता है। कई गणनायं Chandra Grahan व चंद्रमा की कलाओं पर आधारित होती है जिससे आम जनजीवन को प्रभावित माना जाता है।

इतने तरह से होता है चंद्रग्रहण

चंद्र ग्रहण तीन तरह का माना जाता है। पूर्ण आंशिक और उपछाया चंद्रग्रहण। जब पृथ्वी चंद्रमा को पूरी तरह से ढक लेती है तो इसे पूर्ण चंद्र ग्रहण कहा जाता है। जब सूर्य और चंद्रमा के बीच पृथ्वी आ जाये लेकिन चंद्रमा पर सूर्य की थोड़ी बहुत रोशनी पहुंचती रहे तो इसे आंशिक चंद्र ग्रहण कहा जाता है। ऐसा चंद्रग्रहण बहुत थोड़े समय के लिए होता है। वहीं उपछाया Chandra Grahan में चंद्रमा के आकार पर किसी प्रकार का प्रभाव नहीं पड़ता लेकिन उपछाया चंद्रग्रहण में धुंधलापन आ जाता है।