MLA Jogindar Singh Awana पर 5 करोड़ की मानहानि का दावा

MLA Jogindar Singh Awana

राजस्थान। नदबई विधानसभा क्षेत्र के विधायक और राजस्थान देवनारायण बोर्ड के अध्यक्ष MLA Jogindar Singh Awana एक बार फिर से विवाद के घेरे में आ गये हैं। इस बार उनके द्वारा फेसबुक पर कथित तौर पर एक रिटायर्ड पुलिसकर्मी की मानहानि का मामला सुर्खियों में आया है। अवाना पर उनके इस कथित कृत्य के लिए जयपुर महानगर द्वितीय के एक न्यायालय में पांच करोड़ रूपये की मानहानि का दावा ठोंका गया है।

क्या है मामला

भरतपुर संभाग की तहसील उच्चैन के निवासी दौलतसिंह ने न्यायालय में किये गये मानहानि दावा में कथन किया है कि विधायक जोगेंद्रसिंह अवाना  ने दिनांक 17 जुलाई 2022 को उच्चैन कस्बा में एक मीटिंग का आयोजन किया और इस मीटिंग का MLA Jogindar Singh Awana ने अपने फेसबुक पेज से लाइव प्रसारण भी किया। दौलतसिंह का आरोप है कि इस मीटिंग में अवाना ने सार्वजनिक तौर पर असत्य आरोप लगाये जिससे दौलतसिंह की मानहानि हुई है।

पहले भी विवादों में रहे हैं विधायक अवाना

यह पहली बार नहीं है कि नदबई विधायक जोगेंद्रसिंह अवाना विवाद में पडे़ हों। इससे पहले भी वे जाट तहसीलदार क्षेत्र में न लगाने, हफ्ता वसूली आदि के आरोपों को लेकर सुर्खियों में रहे हैं। जाट तहसीलदार क्षेत्र में न लगाये जाने के मामले ने तो इतना तूल पकड़ा था कि भरतपुर जिले की समस्त जाट सरदारी MLA Jogindar Singh Awana के खिलाफ लामबंद हो गई थी।

यह है MLA Jogindar Singh Awana का राजनीतिक सफर

जोगिंदर सिंह अवाना ने बहुजन समाजवादी पार्टी  के टिकट पर राजस्थान की नदबई विधानसभा सीट से  वर्ष 2018 में राजस्थान की पर्यटन मंत्री महारानी कृष्णेंद्र कौर दीपा के खिलाफ चुनाव लड़ा था। Jogindar Singh Awana को इस चुनाव में 50976 वोट मिले जबकि  कृष्णेंद्र कौर दीपा को 46882 वोट मिले। अवाना ने कृष्णेंद्र कौर दीपा को 4094 वोट से हराया। इससे पहले जोगेंद्रसिंह अवाना ने नोएडा में देहात मोर्चा से अपना राजनीतिक करियर शुरू किया था। इसके बाद वह कांग्रेस में शामिल हुए। अवाना पहले काफी समय तक कांग्रेस से जुड़े रहे और उत्तरप्रदेश विधान परिषद के लिए स्नातक क्षेत्र चुनाव लड़ा लेकिन वह हार गए। बाद में अवाना कांग्रेस से नोएडा विधानसभा  टिकट न मिलने पर बसपा में शामिल हो गए।

ये है मानहानि दावा

Daulat singh vs Jogendra awana