rajasthan election 2023: विविध संगठनों के प्रतिनिधियों के साथ बैठक

general election to legislative assembly 2023

भरतपुर। जिला निर्वाचन अधिकारी लोक बंधु की अध्यक्षता में आगामी rajasthan election 2023 विधानसभा चुनाव के संदर्भ में द्वितीय विशेष संक्षिप्त पुनरीक्षण के तहत जिले के विविध संगठनों के प्रतिनिधियों के साथ कार्यशाला का आयोजन कलेक्ट्रेट सभागार में आयोजित किया गया। बैठक के दौरान पीपीटी के माध्यम से भारत निर्वाचन आयोग के दिशा निर्देशों एवं मतदाता जागरूकता की गतिविधियों, ऑनलाइन एप आदि की जानकारी दी गई एवं आयोग के थीम सॉन्ग ’’मैं भारत हूं’’ का प्रदर्शन भी किया गया। साथ ही जिला निर्वाचन अधिकारी ने बैठक में उपस्थित अधिकारीगणो और संगठनों के प्रतिनिधियों को मतदाता की शपथ भी दिलाई।
जिला निर्वाचन अधिकारी ने स्वीप के बारे में व्यापारिक संगठनों के प्रतिनिधियों को बताते हुए स्वीप के उद्देश्यों जिनमें वोटर टर्न आउट को बढ़ाना, मतदान के दौरान लोकतंत्र की गरिमा को बनाये रखना, जैण्डर गैप को कम करना, कोई भी मतदाता मतदान करने से न छूटे यह सुनिश्चित करना, प्रत्येक मतदाता के लिए पंजीयन एवं सुविधाजनक बनाना, दिव्यांगों एवं बुजुर्गों के लिए सुविधा उपलब्ध करवाना, पोलिंग बूथवाईज मैपिंग कराना, प्रत्येक मतदान केन्द्र पर ईवीएम एवं वीवीपैट का प्रभावी प्रदर्शन करने सहित स्वतंत्र, भयमुक्त, निष्पक्ष, प्रलोभन मुक्त नैतिक मतदान सुनिश्चित करने आदि के बारे में बताया।
जिला निर्वाचन अधिकारी ने बताया कि जिले में मतदान प्रतिशत बढ़ाने के हरसंभव प्रयास किए जा रहे हैं, महिलाओं को जागरूक करते हुए वोटर टर्नआउट बढ़ाने के लिए पंजीकरण हेतु विशेष कैंप आयोजन जैसे अन्य विचारों पर कार्य करने को कहा। उन्होंने बताया कि ग्रामीण क्षेत्रों के मुकाबले शहरी क्षेत्रों में वोटर टर्नआउट काफी कम है, हमें 80 प्रतिशत से अधिक वोटिंग का लक्ष्य रखते हुए समन्वय के साथ कार्य करना होगा। उन्होंने मतदाता जागरूकता हेतु दैनिक उपयोग व कार्य की वस्तुओं पर जागरूकता स्टीकर आदि के माध्यम से प्रचार प्रसार करने के निर्देश दिए। साथ  ही व्यापारिक संगठनों के प्रतिनिधियों को अपने अपने व्हाट्सएप ग्रुप में मतदाता जागरूकता सामग्री के प्रचार प्रसार करने को कहा।
जिला निर्वाचन अधिकारी ने बताया कि युवाओं का मतदाता बनना बेहद आसान है। उन्होंने बताया कि मतदान केन्द्रों पर बूथ लेवल ऑफिसर के पास जाकर फॉर्म नम्बर 6 की मदद से नया मतदाता अपना नाम जुडवा सकता है, फॉर्म नम्बर 7 की मदद से मतदाता सूची में से नाम हटवाना, फॉर्म नम्बर 8 की मदद से मतदाता सूची या वोटर कार्ड में संशोधन एवं फॉर्म नम्बर 6बी की मदद से आधार से अपना मतदाता पहचान पत्र जुड़वाने का कार्य आसानी से किये जा सकते हैं। उन्होंने बताया कि मतदाता सूची में पंजीयन हेतु ऑनलाइन विकल्प के रूप में वोटर्स सर्विस पोर्टल (कम्प्यूटर द्वारा) एवं वोटर हेल्पलाइन एप (मोबाईल द्वारा) का उपयोग किया जा सकता है।
जिला निर्वाचन अधिकारी ने बताया कि मतदाता सूची में पंजीकरण के लिए आवश्यक दस्तावेजों में आवेदन का पासपोर्ट साइज फोटोग्राफ, जन्म दिनांक सम्बंधी दस्तावेज जैसे कि जन्म प्रमाण पत्र, 10वीं की अंकतालिका, पेन कार्ड, आधार कार्ड, पासपोर्ट एवं ड्राईविंग लाइसेंस साथ ही पते से सम्बंधी दस्तावेज जिसमें बिजली, गैस या नल का बिल, आधार, बैंक पासबुक, पासपोर्ट, रेन्टलीज, सैललीज एवं परिवार के किसी व्यक्ति का मतदाता पहचान पत्र जो उस निवास स्थान पर पहले से रह रहा हो, की आवश्यकता है।
उन्होंने 1 अक्टूबर 2023 को 18 वर्ष के होने वाले या इससे अधिक आयु वाले पात्र युवा जिन्होंने अभी तक मतदाता सूची में पंजीकरण नहीं करवाया है उनका नाम मतदाता सूची में जोड़े जाने के लिए अधिक से अधिक प्रयास करने के निर्देश दिये। उन्होंने बताया कि 18 वर्ष पूर्ण करने वालों का आधार वर्ष 1 अक्टूबर 2005 रहेगा। उन्होंने बताया कि ऐसे पात्रों की जानकारी शिक्षा विभाग के शाला दर्पण पोर्टल से संग्रहित की जा सकती है।
उप जिला निर्वाचन अधिकारी रतन कुमार ने इस दौरान बताया कि विधानसभा निर्वाचन क्षेत्रों की फोटोयुक्त मतदाता सूची का प्रारूप प्रकाशन 21 अगस्त 2023 को कर दिया गया है। उन्होंने बताया कि 19 सितम्बर तक दावे एवं आपत्तियां ली जायेंगी तथा 9 सितम्बर को मतदाता सूचियों की प्रवष्टियों के संबंध में ग्राम सभाओं, स्थानीय निकाय एवं आवासीय वेलफेयर सोसायटी के साथ बैठक आयोजित कर पठन एवं सत्यापन किया जायेगा साथ ही मुख्य निर्वाचन अधिकारी के संदेश का पठन भी किया जायेगा। 10 सितम्बर को मतदाता सूचियों में संशोधन हेतु विशेष अभियान के तहत मतदान केन्द्रों पर बीएलओ आवेदन प्राप्त करेंगे। उन्होंने बताया कि 28 सितम्बर 2023 को दावे एवं आपत्तियों का निस्तारण किया जायेगा, 1 अक्टूबर को मतदाता सूची की जांच एवं अंतिम प्रकाशन हेतु आयोग से स्वीकृति ली जायेगी तथा डेटाबेस को अपडेट कर पूरक का मुद्रण किया जायेगा एवं 4 अक्टूबर को मतदाता सूचियों का अंतिम प्रकाशन किया जायेगा।
उप जिला निर्वाचन अधिकारी ने एनवीएसपी पोर्टल, वोटर सर्विस पोर्टल, सक्षम ईआईसी एप, सी विजिल एप, केवाईसी एवं वोटर हेल्प मोबाईल एप की विस्तृत जानकारी देते हुये अधिकाधिक प्रचार-प्रसार के निर्देश प्रदान किये।
जिला समन्वयक स्वीप ओम प्रकाश खुंटेला ने वोटर हेल्पलाइन एप की जानकारी देते हुए वीडियो डेमो के माध्यम से समझाया कि यह एप मतदाता को निर्वाचन नामावली में अपना नाम खोजने, ऑनलाइन प्रारूप भरने, निर्वाचनों के बारे में जानने और सबसे महत्वपूर्ण शिकायत दर्ज करने की आसान सुविधा उपलब्ध कराता है। उन्होंने बताया कि इस एप पर मतदाता भारत निर्वाचन आयोग के बारे में प्रत्येक बात तक आपकी पहुंच होगी, आप नवीनतम प्रेस विज्ञप्ति, वर्तमान समाचार, आयोजनों, गैलरी तथा और भी बहुत कुछ देख सकते हैं।  उन्होंने बताया कि सक्षम एप किस प्रकार दिव्यांग मतदाता के लिए मददगार साबित हो सकता है। इस एप की मदद से दिव्यांग मतदाता बूथ पर मिलने वाली सुविधाओं, किसी भी प्रकार की जानकारी प्राप्त एवं शिकायत दर्ज करा सकते हैं। उन्होंने सोशल मीडिया पर स्वीप के  हैंडल (/कमवइींतंजचनत )की जानकारी देते हुए जिला कलेक्ट्रेट परिसर में स्थापित मोबाइल डिमॉन्सट्रेशन वैन के माध्यम से विविध संगठनों के प्रतिनिधियों को वोटिंग का मॉक पोल भी करवाया।
इस अवसर जिले के प्रतिनिधियों ने भी मतदान के विषय पर अपने सुझाव दिए जिस पर उचित कार्रवाई का आश्वासन दिया गया। बैठक में नगर विकास न्यास के सचिव कमल राम मीना, उपखंड अधिकारी भरतपुर श्रृष्टि जैन, एवं अन्य संबंधित अधिकारीगण मौजूद रहे।