SBK school Bharatpur बनेगा महाविद्यालय

sbk-school-turn-into-college

भरतपुर। तकनीकी शिक्षा एवं आयुर्वेद राज्य मंत्री डॉ. सुभाष गर्ग ने सोमवार को 62 लाख 77 हजार रूपये की लागत से बनने वाले एसबीके कन्या राजकीय विद्यालय SBK school Bharatpur के नवीन भवन का शिलान्यास किया। विद्यालय में इस राशि से 6 कक्षा कक्ष एवं बरामदों का निर्माण कराया जायेगा जो आगामी लगभग 9 माह में पूर्ण हो जायेगा। निर्माण की राशि राज्य सरकार ने छात्रकोष राशि से स्थानान्तरित कर उपलब्ध कराई है। उन्होंने विश्वास दिलाया कि विद्यालय में लगभग 800 से अधिक छात्राऐं होने के कारण इसे आगामी शिक्षा सत्र में महाविद्यालय में क्रमोन्नत करा दिया जायेगा। निर्माण कार्य की पट्टिका का अनावरण करने के बाद आयोजित समारोह को संबोधित करते हुये डॉ. गर्ग ने कहा कि विद्यालय का भवन काफी जीर्ण-शीर्ण हो चुका था जिसकी वजह से छात्राओं को पठन-पाठन के अलावा कम्प्यूटर लैब एवं अन्य शैक्षणिक कार्य प्रभावित हो रहे थे। उन्होंने विश्वास दिलाया कि नगर विकास न्यास द्वारा भी चार कमरों का निर्माण कराया जायेगा। कार्य की गुणवत्ता की जॉच के लिये अधिकारियों को चाहिये कि वे नियमित रूप से जॉच करते रहें। उन्होेंने यह भी विश्वास दिलाया कि विद्यालय के लिये और धन की आवश्यकता होगी तो वे विधायक निधि से उपलब्ध करायेंगे। उन्होंने कहा कि कन्या विद्यालय के विकास के लिये विद्यालय की प्राचार्य को चाहिये कि वह पद्मश्री योजना के तहत आवेदन करें इस योजना में भारत सरकार कन्या विद्यालयों को आवश्यक राशि मुहैया कराती है। डॉ. गर्ग ने भरतपुर के विकास की चर्चा करते हुये कहा कि भरतपुर एनसीआर व टीटीजैड में होने के कारण उद्योगों की स्थापना नहीं हो सकती ऐसी स्थिति में भरतपुर को मेडिकल के साथ ही एजूकेशन हब बनाने का निरन्तर प्रयास कर रहे हैं। उन्होंने बताया कि भरतपुर में वर्ष 2018 में चार महाविद्यालय थे जिनकी संख्या बढकर अब 12 हो गई है जिनमें प्रमुख रूप से आयुर्वेद , होम्योपैथी , कृषि, पशु विज्ञान , पब्लिक हैल्थ, आयुष नर्सिंग , एलोपैथी नर्सिंग आदि शामिल हैं। इसी प्रकार भरतपुर में 250 बैड का नया चिकित्सा भवन बनाया जा रहा है जिसमें सभी प्रकार की सुविधाऐं रोगियों को मुहैया कराई जायेंगी। उन्होंने बताया कि शिक्षा के क्षेत्र में भी राज्य सरकार ने जिले में कई कन्या महाविद्यालय स्वीकृत प्रारम्भ कराये हैं। तकनीकी शिक्षा मंत्री ने भरतपुर में कराये गये विकास के कार्यों पर प्रकाश डालते हुये बताया कि शहर की 90 प्रतिशत सडकों का कार्य पूरा हो चुका है और 25 करोड रूपये की लागत से सौन्दर्यकरण के कार्य कराये जा रहे है। उन्होंने बताया कि वर्षा एवं गन्दे पानी की निकासी के लिये 378 करोड रूपये लागत की भरतपुर फीडर परियोजना स्वीकृत कराकर कार्य प्रारम्भ कराया गया है। जिले में चम्बल का पर्याप्त मीठा जल उपलब्ध कराने के लिये 3100 करोड रूपये की नई परियोजना स्वीकृत कराई गई है जिसका कार्य शीघ्र शुरू हो जायेगा। उन्होंने छात्राओं से आग्रह किया कि वे नियमित रूप से अध्ययन करें क्योंकि शिक्षा का कोई विकल्प नहीं है। उन्होंने छात्राओं से यह भी आग्रह किया कि राज्य सरकार द्वारा उपलब्ध कराये गये मोबाईल का सदुपयोग करें। इस अवसर पर छात्राओं ने डॉ. गर्ग को हस्तलिखित शुभकामना संदेश भी प्रदान किये। प्रारम्भ में विद्यालय की प्राचार्या श्रीमति तृप्ति सिंघल ने विद्यालय के बारे में विस्तार पूर्वक जानकारी दी। इस अवसर पर जिला शिक्षा अधिकारी प्रेमसिंह कुंतल, आयुर्वेद महाविद्यालय की प्राचार्य रीना खण्डेलवाल, संतोष फौजदार, पार्षद रमेश धावई, ब्रिजेन्द्र कंसाना, समसा के एडीपीसी अनिल शर्मा सहित विद्यालय की शिक्षिकाऐं , छात्राऐं व शहर के गणमान्य नागरिक उपस्थित थे।